मोबाइल का इस्तेमाल दिन पर दिन जरुरी होता जा रहा है। वो दिन गए जब लोग मोबाइल का इस्तेमाल सिर्फ फ़ोन कॉल के लिए करते थे। और जहा इस्तेमाल की बात आती है वहीं पर बैटरी पावर का भी सवाल आ जा जाता है। कई बार ऐसा होता है की आपको जरुरी हो और मोबाइल की बैटरी आप का साथ छोड़ देती है। फोन बिलकुल डेड हो जाता है।

आज इस लेख द्वारा हम जानेंगे की किस तरह से आप मोबाइल की बैटरी बचा सकते है। ये कोई साइंस नहीं है जिसमे मोबाइल की बैटरी घिसने से बैटरी चार्ज हो जाएगी, ये बस कुछ ऐसी बाते है जिसकी वजह से आप की बैटरी शायद लम्बी चले।

1. GPS (or Location):

हमारे मोबाइल में कई ऐसे ऍप्स होते है जिन्हें GPS या लोकेशन की जरूरत पड़ती है, जैसे मोबाइल बैंकिंग ऍप्स, गूगल मैप, ओला, उबेर वाले ऍप्स। पर ऐसा नही की हम इन ऍप्स को दिनभर इस्तेमाल करे. जब इस्तेमाल की जरूरत पड़े तभी GPS और लोकेशन का इस्तेमाल करे, बाकी वक्त इन्हें बंद कर दीजिए।

2. Cloud Sync Apps:

आपके मोबाइल पर कई ऐसे ऍप्स भी होंगे जो दिनभर शुरू रहकर आपके मोबाइल का डेटा क्लाउड पर पहुचाते है। जैसे की गूगल फोटोज, contact sync, Mi cloud ऍप्स आदी। रोजमर्रा की जिंदगी में इनकी कोई जरूरत नही। ऐसे ऍप्स का sync बंद रखिये और सिर्फ जरूरत पड़ने पर डेटा एकसाथ sync करिये। इससे भी बैटरी की काफी बचत होगी।

3. Chatting Apps:

इस केटेगरी के ऍप्स आजकल बहुत इस्तेमाल हो रहे है। इनमे ज्यादातर व्हाट्सएप्प, hike, टेलीग्राम जैसे ऍप्स है। बैकग्राउंड डेटा तो लगभग सभी ऍप्स लेती है, लेकिन ये ऍप्स सबसे ज्यादा बैकग्राउंड डेटा पे चलते है। जरूरत न होने पर इनका बैकग्राउंड डेटा बंद ही रखिये। बहुत जरूरत ही है तो इनमे से कोई भी एक ही chat app इस्तेमाल कीजिये। और बाकियो का बैकग्राउंड डेटा बैंड रखिये या फिर ऍप्स ही हटा दीजिये।

4. बैकग्राउंड डेटा और नोटिफिकेशन:

ये सबसे बढ़िया चीज़ है आपके मोबाइल की बैटरी बचाने में। सोचिये की 50 ऍप्स लगातार आपके मोबाइल पर बैकग्राउंड में चल रहे है, आपके इंटरनेट का इस्तेमाल आप को मालूम न होते हुए भी हो रहा है। कितनी फट से बैटरी डिस्चार्ज हो जाएगी आपको पता भी नही चलेगा। मेरे खुद के मोबाइल में लगभग सभी ऍप्स का बैकग्राउंड डेटा बंद है। कुछ ऍप्स लगातार नोटिफिकेशन भेजते रहते है, आप उन्हें भी रोक सकते है। नोटिफिकेशन आने की वजह से स्क्रीन blink होती है, फोन बजता है और vibrate भी होता है। इसमें भी बैटरी बेवजह बर्बाद होती है।

5. स्क्रीन टाइम और वाइब्रेशन:

जरूरी न हो तो स्क्रीन ऑफ हो जानी चाहिए। आप अगर इस्तेमाल नही कर रहे तो स्क्रीन को 15 सेकंड के बाद बैंड करने वाला सेटिंग कर लीजिए। बेवजह vibrations, जैसे स्क्रीन टच, डायल पैड, कीबोर्ड टच, नोटिफिकेशन अलर्ट को बंद करे।

[Image Source: Google]